“जोगेश्वरीचा पति भैरवनाथ: ‘घटस्थापना’ और इसके महत्व का खुलासा”

Jogeshwaricha Pati Bhairavnath’ is all set to reveal the sacred ritual of ‘Ghatasthapana’ and its importance- Hanuman Chalisa

जोगेश्वरीचा पति भैरवनाथ खुद बताएंगे ‘घटस्थापना’ और इसका महत्व

Jogeshwaricha Pati Bhairavnath

मुंबई, 22 अक्टूबर 2023: नवरात्रि का पावन पर्व जल्द ही शुरू हो रहा है और इसके साथ ही ‘घटस्थापना’ के महत्वपूर्ण रितुअल्स का आयोजन हो रहा है। इस बार, महाराष्ट्र के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक, जोगेश्वरीचा पति भैरवनाथ, इस दिवसीय अवसर पर एक खास कदम उठा रहे हैं और ‘घटस्थापना’ के महत्व को समझाने के लिए एक महत्वपूर्ण प्रयास कर रहे हैं।

‘घटस्थापना’ एक प्राचीन हिन्दू धार्मिक रितुअल है जो नवरात्रि के दौरान किया जाता है, जिसमें भगवान दुर्गा की मूर्ति को एक विशेष प्रतिष्ठान पर स्थापित किया जाता है। इसका महत्व धार्मिक और आध्यात्मिक दृष्टिकोण से बड़ा होता है, और यह नवरात्रि के पावन अवसर पर भगवानी दुर्गा के आगमन का स्वागत करता है।

इस बार, जोगेश्वरीचा पति भैरवनाथ ने नवरात्रि के इस महत्वपूर्ण अवसर पर जनता को ‘घटस्थापना’ के महत्व को समझाने का निर्णय किया है। वे इस अद्वितीय दिन के आयोजन के माध्यम से इस धार्मिक प्रथा को समझाएंगे और लोगों को इसके महत्व के बारे में जागरूक करेंगे।

इस खास आयोजन के अंतर्गत, जोगेश्वरीचा पति भैरवनाथ अपने शिष्यों और भक्तों के साथ मिलकर ‘घटस्थापना’ के प्रति आपसी समझ बढ़ाएंगे। वे इस रितुअल के अहम् तत्वों को विस्तार से बताएंगे और यह कैसे भगवानी दुर्गा के आगमन की तैयारी का हिस्सा बनते हैं।

इसके साथ ही, जोगेश्वरीचा पति भैरवनाथ ने लोगों को आमंत्रित किया है कि वे इस दिन उनके साथ आएं और इस महत्वपूर्ण धार्मिक अवसर का उपयोग उनकी आध्यात्मिक साधना में करें।

‘घटस्थापना’ का यह महत्वपूर्ण प्रयास धार्मिक और सामाजिक सद्भावना को बढ़ावा देगा और लोगों को इस महत्वपूर्ण रितुअल के प्रति जागरूक करेगा। नवरात्रि के इस पावन अवसर पर, हम सभी को ‘घटस्थापना’ के महत्व को समझने और मां दुर्गा के आगमन का स्वागत करने का उत्साह बनाए रखने की दिशा में जोगेश्वरीचा पति भैरवनाथ के इस प्रयास का स्वागत है।

 

Leave a comment